World Coconut Day: आखिर 2 सितंबर को ही क्यों बनाया जाता है विश्व नारियल दिवस, पूरी जानकारी

World Coconut Day: हर साल 2 सितंबर को “विश्व नारियल दिवस” मनाया जाता है। नारियल के महत्व और लाभो को उजागर करने के लिए “विश्व नारियल दिवस” मनाया जाता है। भारत सहित 80 से ज्यादा देश नारियल उत्पादक APCC के सदस्य हैं, जिसमें इंडोनेशिया प्रमुख उत्पादक है। और भारत नारियल उत्पादन में तीसरे स्थान पर आता है। दुनिया के सबसे उपयोग होने वाले पेड़ पौधों में से नारियल को एक माना जाता है। नारियल के पौधे को जीवन का वृक्ष भी कहा जाता है।

टेलीग्राम से जुड़े

आखिर 21 जून को ही क्यों बनाया जाता है योगा दिवस जाने पूरी जानकारी

विश्व नारियल दिवस का महत्व

World Coconut Day: हर साल 2 सितंबर को विश्व नारियल दिवस मनाया जाता है। यह ना केवल स्वास्थ्य के लिहाज से बल्कि आर्थिक रूप से भी नारियल के महत्व को समझने के लिए मनाया जाता है। नारियल दिवस विशेष रूप से एशियाई और प्रशांत क्षेत्रों में APCC, एशियाई एवं प्रशांत नारियल समुदाय द्वारा मनाया जाता है। जो ज्यादातर नारियल उत्पादन केंद्रों की सुविधा प्रदान करते हैं।

इसलिए मनाया जाता है विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस

विश्व नारियल दिवस का इतिहास

World Coconut Day: “एशिया प्रशांत नारियल समुदाय” यानी कि APCC की स्थापना 2 सितंबर को हुई थी। उसके बाद साल 2009 में पहली बार “विश्व नारियल दिवस” (World Coconut Day) के रूप में मनाया जाने लगा इस दिवस को एशियाई और प्रशांत नारियल समुदाय में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। “विश्व नारियल दिवस” (World Coconut Day) को मनाने का मुख्य उद्देश्य दुनिया भर में नारियल की खेती के प्रति लोगों को जागरूक करना और नारियल के उद्योगों को बढ़ावा देना है। दुनिया में सबसे ज्यादा नारियल का उत्पादन करने वाला देश इंडोनेशिया है।

जानिए क्यों मनाया जाता है विश्व बाघ दिवस

विश्व नारियल दिवस पर जाने नारियल के लाभ

  • नारियल में अग्नि कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन होता है, जो हड्डियों के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।
  • नारियल का दूध और तेल स्क्रीन के लिए बहुत फायदेमंद होता है।
  • नारियल खाने से कोलेस्ट्रोल लेवल में भी सुधार आता है।
  • पेट की चर्बी को कम करने के लिए भी नारियल लाभदायक होता है।
  • रोजाना नारियल का पानी पीने से शरीर में ग्लूकोस का लेवल नॉर्मल रहता है।
  • नारियल के पानी का रोजाना सेवन करने से इम्यून सिस्टम मजबूत रहता है।
  • नारियल का पानी पीने से ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।

प्रतिवर्ष विश्व नारियल दिवस कब मनाया जाता है?

2 सितंबर को प्रतिवर्ष विश्व नारियल दिवस मनाया जाता है।

नारियल उत्पादन में पहला राज्य कौन सा है?

नारियल का सबसे बड़ा उत्पादक राज्य तमिलनाडु है और दूसरे स्थान पर कर्नाटक वहीं तीसरे स्थान पर केरल है।

नारियल को संस्कृत में क्या कहा जाता है?

नारियल को संस्कृत में नरीकेलम् कहा जाता है।

Leave a Comment